Ticker

6/recent/ticker-posts

UPSSSC Lekhpal 2021: अभी तक परीक्षा में इतने अंकों का पूछा जाता था एक सवाल, अगर लागू हुई निगेटिव मार्किंग तो क्या होगा नुकसान

 सार

उत्तर प्रदेश में यूपी सबऑर्डिनेट सर्विस सेलेक्शन कमीशन द्वारा पीईटी का पिछले महीने आयोजन हो चुका है। आयोग द्वारा PET का रिजल्ट घोषित किए जाने के बाद राज्य में राजस्व लेखपाल भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो सकती है|

UPSSSC Lekhpal 2021: अभी तक परीक्षा में इतने अंकों का पूछा जाता था एक सवाल, अगर लागू हुई निगेटिव मार्किंग तो क्या होगा नुकसान


विस्तार

उत्तर प्रदेश के प्रतियोगी उम्मीदवारों को प्रदेश में होने वाली लेखपाल भर्ती का काफी दिनों से इंतजार बना हुआ है जिसके लिए यूपी सबऑर्डिनेट सर्विस सेलेक्शन कमीशन को राज्य सरकार की ओर भी मंजूरी मिल चुकी है। जल्द ही इस प्रतियोगी भर्ती के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन जारी कर आयोग आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत कर सकता है। अनुमान लगाया जा रहा है कि यह भर्ती प्रक्रिया सितंबर महीने के अंत तक शुरू कर दी जाएगी। लेकिन इस नई भर्ती की चयन प्रक्रिया में कुछ आंशिक बदलाव भी होने की संभावनाएं भी नजर आ रही हैं ऐसे में आज हम आपको इस आर्टिकल में उन जरूरी नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं जो उम्मीदवारों के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। 

अभी तक कितने अंकों का पूछा जाता रहा है एक सवाल- 

साल 2015-16 में आयोजित की जाने वाली लेखपाल भर्ती में 80 अंकों की लिखित परीक्षा और 20 अंकों का साक्षात्कार होता आ रहा है। लिखित परीक्षा में 100 सवाल होते थे जिसमें गलत उत्तर के लिए कोई भी नकारात्मक मार्किंग नहीं किए जाने का प्रावधान था। ऐसे में परीक्षा में पूछा गया एक सवाल 0.8 अंकों के करीब होता था। लेकिन आयोग द्वारा पीईटी आयोजित किए जाने के बाद (जिसमें नकारात्मक मार्किंग शामिल की गई थी) अनुमान लगाया जा रहा है कि यूपी में जल्द ही होने वाली राजस्व लेखपाल भर्ती परीक्षा में भी निगेटिव मार्किंग शामिल की जाएगी। ऐसे में परीक्षा में शामिल होने वाले प्रतियोगी परीक्षार्थियों पर काफी असर पड़ सकता है। हालांकि लिखित एग्जाम में इंटरव्यू समाप्त करने की बातें भी सामने आ रही हैं जिसके बाद उम्मीदवारों का परीक्षा पूर्णांक भी अधिक नंबरों का होगा जिसका फायदा भी छात्रों को मिल सकता है।